बिहार-गौरव बनने की ओर अग्रसर 1320 मे0 वॉ0 बक्सर ताप विद्युत परियोजना

चन्द्रकान्त पाराशर , एडीटर-ICN हिंदी  बक्सर(बिहार) : बिहार राज्य के बक्सर ज़िले के चौसा क़स्बे में ( 2×660मेगावाट)1320 मेगावाट की बक्सर ताप विद्युत परियोजना के निर्माण कार्य इन दिनों कड़ी निगरानी में द्रुत गति से प्रगामी प्रगति पर है ;यह एसजे वीएन लि० का बहुत महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट है जिसे अल्‍ट्रा सुपर क्रिटिकल प्रौद्योगिकी के साथ 1320 मेगावाट (2×660 मेगावाट) एसजेवीएन थर्मल प्रा. लि. (एसजेवीएन लिमिटेड की एक पूर्ण स्‍वामित्‍व वाली अधीनस्‍थ कंपनी) द्वारा कार्यान्वि‍त किया जा रहा है।  वर्तमान में संजीव सूद बतौर मुख्य कार्यकारी अधिकारी परियोजना का संचालन कर…

Read More

एसजेवीएन द्वारा उत्तर प्रदेश में 125 मेगावाट की दो सौर परियोजनाओं को हासिल किया गया

चन्द्रकान्त पाराशर , एडीटर-ICN हिंदी  शिमला : एसजेवीएन लिमिटेड ने हाल ही में उत्तर प्रदेश नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा विकास एजेंसी (यूपीएनईडीए) द्वारा आयोजित प्रतिस्पर्धी बोली प्रक्रिया के तहत 125 मेगावाट ग्रिड से जुड़ी सौर परियोजनाएं हासिल की हैं। कंपनी को टैरिफ आधारित प्रतिस्पर्धी बोली के माध्यम से उत्तर प्रदेश के जालौन जिले के गुरहा में 75 मेगावाट की ग्रिड से जुड़ी सौर परियोजना तथा कानपुर देहात जिले के गुजराई में 50 मेगावाट की ग्रिड से जुड़ी सौर ऊर्जा परियोजना के विकास के लिए उत्तर प्रदेश नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा…

Read More

भारत के प्रधानमंत्री द्वारा एसजेवीएन की दो परियोजनाओं की आधारशिला व एक की ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी का शुभारंभ

चन्द्रकान्त पाराशर , एडीटर-ICN हिंदी  शिमला : एसजेवीएन की 210 मेगावाट लूहरी स्टेज-1 जल विद्युत परियोजना और 66 मेगावाट धौलासिद्ध जल विद्युत परियोजना की आधारशिला तथा 382 मेगावाट सुन्नी बांध जल विद्युत परियोजना के ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी का शुभारंभ किया गया हिमाचल प्रदेश के मंडी में एक भव्य समारोह के दौरान प्रधानमंत्री ने हिमाचल प्रदेश के शिमला और कुल्लू जिले में स्थित 210 मेगावाट लूहरी स्टेज-1 जल विद्युत परियोजना और हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर और कांगड़ा जिले में स्थित 66 मेगावाट धौलासिद्ध जल विद्युत परियोजना की आभासी (वर्चुअल )माध्यम से…

Read More

एक कदम और : ‘एक दोपहर सितारों भरी’

लखनऊ/04.12.2021 : लगभग दो वर्षों से निरंतर वैश्विक महामारी के हिम में कहीं गहरे नीम बेहोशी से जूझती ज़िंदगी अब पुनः कसमसाने लगी है और ज़िंदगी में जीवित होने के लक्षण फिर दिखाई देने लगे हैं। विश्व को यह विश्वास दिलाने की आवश्यकता है कि वह गंभीर व अविश्वसनीय क्षति के बावजूद सांसे ले रहा है और अभी तक ज़िंदा है। बहुत ज़रूरी है कि हम अपनी धड़कनों के संगीत को फिर सुने, शिराओं मे बहते खून की रफ़्तार को फिर महसूस करें और अपने मस्तिष्क को गुफ़्तगू करके फिर…

Read More

भारतीय कंकरीट संस्थान(जे एंड के -हि0प्र0)शिमला केंद्र द्वारा वास्तुकार,अभियन्तागण,ठेकेदार उत्कृष्ट निष्पादन/सर्वश्रेष्ठ निर्माण/कार्यों हेतु 68 वार्षिक उत्कृष्ता-पुरस्कारों से सम्मानित

चन्द्रकान्त पाराशर , एडीटर-ICN हिंदी  शिमला : देवेंद्र कुमार शर्मा, अध्यक्ष, हिमाचल प्रदेश विद्युत नियामक आयोग एवं सदस्य, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बोर्ड, भारत सरकार; उपाध्यक्ष अंतर्राष्ट्रीय लार्ज डैम कमीशन पेरिस  को भारतीय कंक्रीट संस्थान, शिमला केंद्र द्वारा वर्ष 2021 के लिए लाइफटाइम उपलब्धि पुरस्कार ट्रॉफी से सम्मानित किया गया। इस मौक़े पर देश की आधारभूत ढाँचागत संरचनाओं की मज़बूत नींव में वास्तुकारों के उत्तम डिज़ाइन,निर्माण-पद्धति व कंक्रीट के योगदान की शर्मा ने सराहना की । देश के अग्रणी निकायों में कार्यरत उम्दा अभियंताओं/प्रशासकों को उनके अभूतपूर्व सर्वश्रेष्ठ योगदान के लिए…

Read More

भारतीय कंक्रीट संस्थान की निरंतर परामर्श व प्रोत्साहन से देश के ढाँचागत संरचनात्मक विकास में निर्णायक भूमिका

चन्द्रकान्त पाराशर , एडीटर-ICN हिंदी  शिमला : एक गैर-लाभकारी संगठन भारतीय कंक्रीट संस्थान भारत में अग्रणी व्यावसायिक निकायों में से एक है, जो कंक्रीट-कार्यों में शामिल व्यक्तियों और संगठनों की व्यावसायिक आवश्यकताओं की पूर्ति करने के साथ साथ कंक्रीट विषय पर ज्ञान के प्रसार, कंक्रीट प्रौद्योगिकी और निर्माण को बढ़ावा देने और कंक्रीट की अनुसंधान आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए एकदम समर्पित है। वर्ष 1982 में एसईआरसी चेन्नई और अन्ना विश्वविद्यालय ने संयुक्त रूप से आधुनिक कंक्रीट निर्माण प्रथाओं/प्रक्रियाओं पर एक अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया था,इसी संगोष्ठी की…

Read More

एसजेवीएन द्वारा शिमला में सतर्कता जागरूकता सप्ताह-2021 के दौरान भाषण प्रतियोगिताओ का आयोजन

चन्द्रकान्त पाराशर , एडीटर-ICN हिंदी   शिमला: एसजेवीएन द्वारा सतर्कता सप्‍ताह-2021 के अवसर पर शिमला स्थित स्‍कूलों और कॉलेजों में आयोजित किए जा रहे विभिन्‍न कार्यक्रमों की कड़ी में शिवालिक इंस्‍टीट्यूट ऑफ नर्सिंग कॉलेज, भट्टाकुफर, संजौली, शिमला में ‘’स्‍वतंत्र भारत @75: सत्‍यनिष्‍ठा से आत्‍मनिर्भरता’ विषय पर अंग्रेजी तथा हिंदी में भाषण प्रतियोगि‍ता का आयोजन किया गया I इस कार्यक्रम में मुख्‍य अतिथि के रूप में श्री शैलेन्‍द्र सिंह, महाप्रबंधक(मा.सं) सहित प्रिंसिपल डॉ.शमा लोहुमी तथा एमडी श्रीमती शोभा ठाकुर सहित निगम के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थेI  कार्यक्रम की अध्‍यक्षता करते…

Read More

हाइकु

चन्द्रकान्त पाराशर , एडीटर-ICN हिंदी   (लिमोन,कोस्टा रीका,मध्य अमरीका प्रवास ) हाइकु (1) ताड़ के पेड़ सागर-तट पर बाट जोहते । (2) आतीं लहरें सागर की तरफ़ गगन-छोर । (3) भरे बादल कोहरे के जाल में प्राणी-जगत । (4) झूमते तृण लहलहाते वन बहका मन । (5) भरे बादल छूते उत्तुंग शृंग खुश भू-देवी । (6) सरका मार्ग सरकती सड़क थे रुके हम । (7) वर्षा वन में गगन स्पर्शी पेड़ झरते पत्ते। (8) श्याम बादल बीच झांक देखता नीला आकाश। (9) समुद्र-तट बहती पुरवाई जीने की आशा । (10)…

Read More

आई सी एन ने खोजी ‘गहना” की जगमगाहट

गहना (मुक्तेश्वर), उत्तराखण्ड।3 अक्टूबर, 2021. उत्तराखण्ड के मुक्तेश्वर क्षेत्र में गहना आज जी भर कर जगमगाया। ग्रामीण इलाके में सिमटा यह गाँव अचानक ही तब क्षेत्र की ‘ब्रेकिंग न्यूज़’ बन गया जब अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अंग्रेज़ी भाषा के माध्यम से 179 देशों व हिंदी भाषा के माध्यम से 81 देशों में मौजूद आई सी एन मीडिया ग्रुप ने इस गाँव व निकटवर्ती क्षेत्रों के भविष्‍य में ‘ग्रामीण उद्यमिता व आत्मनिर्भरता’ के नये सबक की इबारत लिखी। आई सी एन के ग्रामीण उद्यमिता के अंतर्राष्ट्रीय मिशन में इस विषय पर न…

Read More

चैम्पियन ऑफ़ चेंज अवार्ड का महाराष्ट्र संस्करण में राजनैतिक, सिनेमा , सामाजिक कल्याण और उद्योग जगत के दिग्गज सम्मानित

मुंबई : इंटेरैक्टिव फोरम ऑन इंडियन इकोनॉमी द्वारा ताजमहल पैलेस होटल में प्रतिष्ठित राज्य मान्यता पुरस्कार ‘चैंपियंस ऑफ चेंज’ महाराष्ट्र समारोह आयोजित किया गया. विजेताओं को महाराष्ट्र के माननीय राज्यपाल श्री भगत सिंह कोश्यारी मुख्य अतिथि के रूप में पुरस्कार प्रदान किया । यह  समारोह डॉ. वेद प्रताप वैदिक की अध्यक्षता में सम्पन्न  हुआ। इस अवसर पर राजनैतिक,  सिनेमा , सामाजिक कल्याण और  उधयोग जगत के दिग्गज सम्मानित किया गए। प्रमुख पुरस्कार विजेताओं में श्री देवेन्द्र फडणवीस, श्री दिलिप वल्से पाटिल, श्री नाना पटोले, श्रीमती सिंधुताई सपकाल, श्री सत्यजीत भटकाल,…

Read More